दुआ (Prayer)

दुआ (Prayer)

और तुम्हारा परवरदिगार इरशाद फ़रमाता है कि तुम मुझसे दुआएं मांगो, मैं तुम्हारी (दुआ ज़रूर) क़ुबूल करूंगा। (कुरआन-60:40)   ख़ुदा तक न तो (कुरबानी के) गोश्त ही पहुंचेंगे और न ही खून, (हां) मगर उस तक तुम्हारी (नेकी व) परहेज़गारी (ज़रूर) पहुंचेगी। (कुरआन -37:22)   पस...