मेहनत का अमृत

मेहनत का अमृत

मेहनत का अमृत गुरू नानक को चलते चलते शाम हो गई। पास के ही गांव में एक ग़रीब किसान के यहां ठहर गए। उस गांव के सेठ को खबर लगी तो वो भी पहुंचा। देखा कि गुरू जी किसान के साथ खाना खा रहे हैं और वो भी सूखी रोटी और दाल। ये सब देखकर सेठ ने कहा. आप ऐसा खाना क्यों खा रहे हैं? इस...
जन्नत और दोज़ख़

जन्नत और दोज़ख़

जीवन दर्शन एक हज़रत से कुछ लोगों ने पूछा. जन्नत (स्वर्ग) और दोज़ख़ (नरक) क्या है? आपने उन्हें अगले दिन एक शिकारी के पास ले गए। वो शिकारी बहुत से जानवरों को शिकार करके लाया था, उन्हें मार डाला था। वहां का मंज़र उन लोगों को देखा नहीं गया और वहां से जाने लगे। जाते जाते हज़रत...
उम्र चार साल

उम्र चार साल

नौशेरवां एक राजा थे। एक दिन वो भेष बदलकर कहीं जा रहे थे। रास्ते में उन्हें एक बुढ़ा किसान मिला। उस किसान के बाल पक गये थे, लेकिन उसमें जवानों जैसा जोश था। ये देख राजा ने पूछा. आपकी उम्र कितनी है। उस बुढ़े ने कहा. चार साल। राजा ने सोचा मज़ाक कर रहे हैं। जब फिर पूछने पर भी...
ईश्वर के अस्त्र-शस्त्र – Bible

ईश्वर के अस्त्र-शस्त्र – Bible

  अन्त में यह- आप लोग प्रभु से और उसके अपार सामर्थ्य से बल ग्रहण करें, आप ईश्वर के अस्त्र-शस्त्र धारण करें, जिससे आप शैतान की धूर्तता का सामना करने में समर्थ हों, क्योंकि हमें निरे मनुष्यों से नहीं, बल्कि इस अन्धकारमय संसार के अधिपतियों, अधिकारियों तथा शासकों और आकाश...
प्रेरक प्रसंग

प्रेरक प्रसंग

जीवन दर्शन मनुष्य के प्रकार परमहंस जी अपने शिष्यों के साथ टहल रहे थे। देखा कि एक मछुआरा जाल फेंककर मछली पकड़ रहा है। आप वहां ठहर गए और अपने शिष्यों से कहा कि ध्यान से इन मछलियों को देखो। कुछ मछलियां जाल में निश्चल पड़ी हैं, तो कुछ जाल से निकलने की कोशिश कर रही हैं लेकिन...