अशरफ़े अंबिया…

अशरफ़े अंबिया…

अशरफ़े अंबिया, शाहे ख़ैरूल अनाम, तुमपे लाखों दरूद और लाखों सलाम। नूरे खल्लाके कौनो मकां हो दवाम, तुमपे लाखों दरूद और लाखों सलाम। शान वाले, तुम्हारी बड़ी शान है, जान सदक़े, ये दिल तुम पे कुरबान है, तुम हो आक़ा मेरे, मै तुम्हारा गुलाम, तुमपे लाखों दरूद और लाखों सलाम। फ़र्श क्या, अर्श क्या, और [...]
किरपा करो सरकार…

किरपा करो सरकार…

मैं मली, तन मेरा मैला, किरपा करो सरकार। नज़रे करम सरकार, या मुहम्मद ﷺ... सरपे उठाकर पाप की गठरी, आई हूं तुम्हरे द्वार। नज़रे करम सरकार, या मुहम्मद ﷺ...   मेरे खिवइया बीच भंवर में, कश्ती डूब न जाए। तेरा हूं, तू मेरी खबर ले, कौन लगाए पार। नज़रे करम सरकार, या मुहम्मद ﷺ...   [...]
X